होली एंजिल्स कान्वेंट स्कूल के गरीब सिख छात्र को निकालने के मामले डीएम-एसएसपी से मिले प्रमुख समाजसेवी : मनीष चौधरी

होली एंजिल्स कान्वेंट स्कूल के गरीब सिख छात्र को निकालने के मामले डीएम-एसएसपी से मिले प्रमुख समाजसेवी मनीष चौधरी


डीएम ने की जांच कमेटी गठित, पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कर रिपोर्ट देने के दिये आदेश

मुजफ्फरनगर। स्कूल परिसर से बाहर छात्रों के बीच हुए विवाद के बाद पुलिसिया कार्यवाही के साथ ही दोनों पक्षों के बीच समझौता पत्र देने के बावजूद भी होली एंजिल्स कान्वेंट स्कूल द्वारा एक छात्र को स्कूल में लेने तथा दूसरे गरीब सिख छात्र को स्कूल से बाहर कर दिये जाने के मामले ने तूल पकड लिया है। इस मामले को लेकर प्रमुख समाजसेवी मनीष चौधरी ने स्कूल प्रबंध तंत्र को स्कूल में जाकर हडकाया था। आज इस मामले को लेकर प्रमुख समाजसेवी मनीष चौधरी के नेतृत्व में समाजसेवी टीम ने एसएसपी विनीत जायसवाल से मुलाकात की और अपनी बात रखी, जिस पर एसएसपी ने डीएम से मिलने की सलाह दी। इसके बाद जिलाधिकारी चंद्रभूषण सिंह से मुलाकात की और पूरा प्रकरण बताया, जिस पर डीएम ने डीआईओएस को जांच सौंपी और शीघ्र रिपोर्ट देने को कहा है।
इस मौके पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए प्रमुख समाजसेवी मनीष चौधरी ने बताया कि कुछ दिनों पहले स्कूल के छात्रों के बीच स्कूल परिसर से बाहर विवाद हो गया था। इस सम्बन्ध में नई मंडी कोतवाली में मुकदमा भी दर्ज कराया गया था। इसके बाद दोनों छात्रों के बीच समझौता हो गया, जिसका लिखित में समझौता भी स्कूल में दाखिल करा दिया गया था। इसके बावजूद भी स्कूल ने एक छात्र को तो स्कूल आने की अनुमति दे दी है, जबकि कक्षा 9-सी के दूसरे गरीब सिख छात्र हर्षदीप सिंह पुत्र गुरदीप सिंह को स्कूल से बाहर कर दिया गया। मनीष चौधरी ने बताया कि छात्र हर्षदीप सिंह के पिता कर्नाटक में ट्रक चलाकर अपने परिवार की गुजर बसर कर रहे हैं। मनीष चौधरी ने कहा कि उन्हें जानकारी मिली है कि गरीब होने के कारण छात्र हर्षदीप सिंह की पिछले कई महीने की फीस भी जमा नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि छात्र की रूकी हुई फीस को उनकी समाजसेवी टीम एकमुश्त जमा कराने के लिये तैयार है। इसके बावजूद भी स्कूल प्रबंध तंत्र हर्षदीप सिंह को स्कूल में आने की अनुमति नहीं दे रहा है और कह रहा है कि अपनी टीसी कटाओ और किसी अन्य जगह एडमिशन ले लो। जब उक्त सम्बन्ध में वे स्कूल पहुंचे, स्कूल उप प्रधानाचार्य ने पहले तो, बात नहीं की और फिर छात्र की गलती निकालने लगे। मनीष चौधरी ने बताया कि स्कूल प्रबंध तंत्र द्वारा छात्र हर्षदीप सिंह को स्कूल से बाहर कर दिये जाने के बाद छात्र की माता और उनका परिवार बच्चे के भविष्य को लेकर भारी तनाव में हैं। उन्होंने कहा कि यदि ऐसे में परिवारजन कोई गलत कदम उठाते हैं तो उसके लिये स्कूल प्रबंध तंत्र पूरी तरह से जिम्मेदार होगा।
मनीष चौधरी ने स्पष्ट चेतावनी दी है कि यदि उक्त गरीब सिख छात्र को स्कूल वापस नहीं लेता तो स्कूल के खिलाफ मोर्चा खोल दिया जायेगा और स्कूल द्वारा पांच फीट तक किये गये अतिक्रमण को हटाने के लिये वह स्कूल के बाहर ही धरने पर बैठेंगे। उन्होंने कहा कि स्कूल द्वारा जो अतिक्रमण किया गया है, उसी के कारण स्कूल के बाहर पूरे दिन जाम की स्थिति बनी रहती है और लडाई-झगडा होने के कारण माहौल खराब होने की संभावना हर समय बनी रहती है। उन्होंने डीएम की कार्यवाही पर संतोष जताया है। इस अवसर पर प्रमुख समाजसेवी मनीष चौधरी के अलावा के.पी. चौधरी, भरतवीर प्रधान, योगेन्द्र कुमार मुन्ना, नवीन कश्यप, मुन्नू कश्यप, हंसराज कश्यप, रामशरण व समाजसेवी टीम के अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे।

द्वारा मनीष चौधरी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *