चौ टिकैत की पुण्यतिथि पर जल, बीज संरक्षण का लिया संकल्प- धर्मेन्द्र मलिक

चौ टिकैत की पुण्यतिथि पर जल, बीज संरक्षण का लिया संकल्प- धर्मेन्द्र मलिक

किसानों के मुद्दो पर भटकाव से बचाने हेतु किया गया भारतीय किसान यूनियन अराजनैतिक का गठन – चौ उधम सिंह
मुज़फ्फरनगर – भारतीय किसान यूनियन अराजनैतिक द्वारा आज दिनांक 15 मई 2024 को स्थापना दिवस एवं बाबा टिकैत साहब की पुण्यतिथि पर श्री राम कॉलेज के सभागार एक गोष्ठी का आयोजन किया गया।
किसानों ने टिकैत साहब के जीवन का अनुसरण कर संघर्ष के रास्ते पर चलने का आह्वान किया
गोष्ठी को संबोधित करते हुए पीजेंट वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक बालियान जी ने कहा कि चौ टिकैत ने हमेशा किसान हित में संघर्ष किए लेकिन आज अधिकतर लोग अपने हित में किसानों को गुमराह कर रहे है। हमारा क्षेत्र शिक्षा।में पिछड़ रहा है। इसी का नतीजा है कि हाल में ही सिविल सर्विस के परिणाम में हमारा क्षेत्र खाली रहा है। किसान नेता भी युवाओं को भ्रमित कर कानून न मानने की बात।करते है इससे क्षेत्र को भरी नुकसान हो रहा है। भारतीय किसान यूनियन अराजनैतिक आंदोलन।से पूर्व विषय का परीक्षण कर ही आंदोलन का निर्णय करे
अंतर्राष्ट्रीय जाट संसद के संयोजक रामअवतार पलसानिया ने कहा कि आज हम किसान मसीहा का बलिदान दिवस मना रहे है। आज हमे उनके जीवन से सीख लेकर आगे बढ़ना होगा क्योंकि यह दौर बदल चुका है टिकैत साहब का दौर नहीं है हमे बदलाव करना होगा। वार्ता और समझ के आधार पर आंदोलन को आगे बढ़ाना होगा।
भारतीय किसान यूनियन अराजनैतिक के राष्ट्रीय प्रवक्ता धर्मेंद्र मलिक ने कहा कि किसान संघर्ष में बाबा टिकैत का नाम अग्रिम पंक्ति में इतिहास में दर्ज है । उन्होंने सभी सरकारों के खिलाफ संघर्ष किया। किसान को अपनी बात कहने की ताकत दी है।आज हम किसान मसीहा को नमन करते हुए उनके विचार को आगे ले जाते हुए सभी संकल्प लेते है कि जल,बीज संरक्षण का संकल्प लेते है। इन दोनो की महत्ता कृषि में है। इस छोटे से संकल्प से बड़े बदलाव आयेगे।
मलिक ने कहा कि आने वाले समय में जैविक कृषि उत्पाद का डंका दुनिया में बजेगा । जो किसान इसे समय पर अपनाएंगे वही लाभ लगे। आज कीटनाशक,रसायनिक खाद के अंधाधुंध प्रयोग से किसानों की लागत एवं मानव जगत में बीमारियों।में आश्चर्यजनक वृद्धि हुई है जो मानव के लिए बड़े खतरे की ओर इशारा कर रही है। किसान आपसी सहयोग से ही तरक्की कर सकते है। किसी के बढ़कावे एवं बहकावे में अपने बच्चो के भविष्य को खराब न करे। बच्चो को अच्छी शिक्षा देकर उन्हें योग्य बनाए।
भारतीय किसान यूनियन अराजनैतिक के संगठन मंत्री उधम सिंह जी ने किसानों से अपील करते हुए कहा कि हमे हरित क्रांति के दौर से पूर्व में लौटना होगा। आज किसान केवल कर्ज की खेती कर है।खेती को लाभकारी बनाने के।लिए नई फसलों,सहकारिता को अपनाना होगा।
सभी किसानों ने बाबा टिकैत के चित्र पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।
कार्यक्रम की अध्यक्षता चौ उधम सिंह एवं संचालन सुधीर पहलवान ने किया
कार्यक्रम को अंकित चौधरी जिलाध्यक्ष, अक्षय त्यागी युवा जिलाध्यक्ष, पवित अहलावत, ठाकुर कुशलवीर, महक सिंह सैनी, पिंटू ठाकुर, विपिन त्यागी बब्बल ठाकुर ने संबोधित किया
कार्यक्रम में नौशाद मलिक,राजपाल सिंह, राशिद मंत्री, सतेंद्र मलिक, यासीन खान, सतेंद्र राजीव पूर्व चेयरमैन बुढ़ाना सुभाष मलिक, वसीम खान सहित अनेक किसान शामिल रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *