माउंट लिट्रा ज़ी स्कूल में बैसाखी पर्व अत्यंत धूमधाम से मनाया गया

 

माउंट लिट्रा ज़ी स्कूल में बैसाखी पर्व अत्यंत धूमधाम से मनाया गया


दिनांक 13 अप्रैल 2024 को लिंक रोड स्थित माउंट लिट्रा ज़ी स्कूल में बैसाखी पर्व अत्यंत धूमधाम से मनाया गया । कार्यक्रम का शुभारंभ माँ सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन से हुआ ।
बैसाखी के अवसर पर छात्रों ने मनमोहक नृत्य प्रस्तुत कर सबको रोमांच से भर दिया । इस अवसर पर आकर्षक पोशाक पहने नन्हें छात्र विशेष आकर्षण का केन्द्र रहे । बैसाखी पर्व पर विद्यार्थियों को पंजाब की संस्कृति के विषय में जानकारी देते हुए बताया गया कि बैसाखी का पर्व मुख्य रूप से पंजाब व हरियाणा में मनाया जाता है। इस दिन फसलों के पकने पर उनकी कटाई शुरू की जाती है। सिखों के 10वें गुरु गोबिंद सिंह ने बैसाखी के दिन ही 13 अप्रैल 1699 को खालसा पंथ बनाया था।

कार्यक्रम के अंत में विद्यालय निर्देशिका श्रीमती चारु भारद्वाज, संयुक्त निर्देशक श्री सुनंद सिंघल एवं प्रधानाचार्या श्रीमती अनुराधा गुप्ता ने सभी छात्रों को बैसाखी पर्व की शुभकामनाएँ दी ओर उनको गुरु गोबिंद सिंह के आदर्शों पर चलने के लिए प्रेरित किया।

 

किडजी न्यू मंडी में बैसाखी का पर्व बड़े ही धूम धाम से मनाया गया
बैसाखी एक ऐसा त्योहार है जो कृषि महत्व को धार्मिक श्रद्धा के साथ खूबसूरती से जोड़ता है। यह भारत के जीवंत सांस्कृतिक ताने-बाने और सिख समुदाय की अदम्य भावना का प्रमाण है। बैसाखी पूरे भारत में अलग-अलग नाम और परंपराओं के साथ मनाई जाती है। बैसाखी के कई मनमोहक आयोजनों में भांगड़ा और गिद्दा आकर्षण का केंद्र होते हैं।कार्यक्रम की शुरुआत में ही स्कूल की डायरेक्टर श्रीमती चारु भारद्वाज द्वारा बच्चो को बैसाखी से संबंधित कुछ बाते साझा की गई । इसी के साथ साथ नन्हे मुन्ने बच्चे रंग बिरंगे पंजाबी पारंपरिक परिधानों में सजे थे। ढोल की थाप और पंजाबी लोक संगीत ने जोश ओर बढ़ा दिया ।बच्चो द्वारा पंजाब की संस्कृति को दर्शाने वाला रंगारंग कार्यक्रम भी प्रस्तुत किया गया जिसमें गिद्दा मुख्य आकर्षण रहा।इस उपलक्ष्य में बच्चो ने नृत्य प्रस्तुती से सबका मन मोह लिया । इसी के साथ साथ स्कूल को कॉर्डिनेटर श्रीमती आयुषी भारद्वाज, व सभी शिक्षिकाओं श्रीमती पायल, श्रीमती अरुणा, सुहानी, मान्या, सन्हा,अनुष्का, इष्प्रीत की विशेष भूमिका रही।

स्कूल के इस विशेष कार्यक्रम में सभी शिक्षिकाओं ने अपना पूर्ण योगदान दिया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *