देहरादून मे ग्लोबल विजनरी अवार्ड से नवाजे गए मुज़फ्फरनगर के वरिष्ठ पत्रकार राकेश शर्मा

देहरादून मे ग्लोबल विजनरी अवार्ड से नवाजे गए मुज़फ्फरनगर के वरिष्ठ पत्रकार राकेश शर्मा

 राकेश शर्मा पत्रकारिता के क्षेत्र में राष्ट्रपति पुरस्कार कर चुके हैं प्राप्त 

देहरादून :  मुजफ्फरनगर के पत्रकारिता क्षेत्र में राष्ट्रपति से सम्मानित वरिष्ठ पत्रकार राकेश शर्मा को देहरादून में सम्मानित किया गया है। ग्लोबल विजनरी अवार्ड से नवाजे गए पत्रकार राकेश शर्मा को एक और बड़ी उपलब्धि हासिल हुई है।

श्रीमाधो सिंह उत्तरांचल टेक्निकल यूनिवर्सिटी के सभागार में आयोजित सम्मान समारोह में न्यूजीलैंड की संस्था न्यूजीलैंड भारत इकोनामिक फाउंडेशन ने मुजफ्फरनगर के वरिष्ठ पत्रकार राकेश शर्मा को ग्लोबल विजनरी अवार्ड से सम्मानित किया। उन्हें इससे पहले 2015 में देहरादून में ही राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने सम्मानित किया था। अब उन्हें एक और बड़ी उपलब्धि हासिल हुई है। विदेशी संस्था न्यूजीलैंड भारत इकोनामिक फाउंडेशन ने उन्हें ग्लोबल विजनरी अवार्ड से नवाजा है। पत्रकार शर्मा के अलावा प्रदेश के सेवानिवृत पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार, सीएमआई हॉस्पिटल के न्यूरो सर्जन डॉ. महेश कुडियाल, वीएमएसबी उत्तराखंड टेक्निकल यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर प्रोफेसर डॉ. ओमकार सिंह, उत्तराखंड लोक सेवा आयोग के पूर्व चेयरमैन जगमोहन सिंह राणा, एएसपी मुकेश ठाकुर, योगाचार्य गोपाल भार्गव, किसान सेवा सहकारी क्षेत्र में संजीव शर्मा, सूरत चैंबर ऑफ कॉमर्स के सीईओ राकेश त्रिवेदी, प्रोफेसर डॉ. अनीता रावत, एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. संदीप कुमार चौधरी को भी ग्लोबल विजनरी अवार्ड से सम्मानित किया गया। इस दौरान न्यूजीलैंड भारत इकोनामिक फाउंडेशन के फाउंडर राम भार्गव और समारोह के संयोजक व ऑकलैंड के एक्जीक्यूटिव रवि शर्मा ने बताया कि इस फाउंडेशन का मकसद भारत में पूंजी निवेश बढ़ाना और यहां की संस्कृति और टेक्नोलॉजी को शेयर करना है। उन्होंने बताया कि भारत के मेधावी बच्चों को विश्व स्तर पर प्रशिक्षण दिलाने का काम भी फाउंडेशन कर रहा है।

न्यूजीलैंड से ऑनलाइन जुड़े वेलिंगटन के एक्जीक्यूटिव कुश भार्गव ने हाल में ही गुजरात के सूरत में हुए पूंजी निवेश के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि अब भारत में कार्बन नेगेटिव घर बनाने की योजना पर काम चल रहा है। भारत एक बड़ा बाजार है और पूंजी निवेश के लिए बड़ा क्षेत्र भी है। जापान से जुड़े बड़े कारोबारी साकू कावामाटा, सिंगापुर से खुर्शीद अनवर ने भारत में स्थानीय उद्यमियों के साथ भारत के कई क्षेत्रों में व्यापार की इच्छा जताई।

समारोह में उत्तराखंड आयुर्वेदिक यूनिवर्सिटी देहरादून के वाइस चांसलर डॉ. एके त्रिपाठी, डॉ. ओमकार सिंह, सेवानिवृत्त डीजीपी अशोक कुमार, लोकसेवा आयोग के पूर्व चेयरमैन जगमोहन सिंह राणा, प्रोफेसर डॉ. सतेंद्र सिंह, विक्रम सिंह जंतवाल, कंट्रोलर वीके पटेल, एनबीआर आईटी संस्था की डायरेक्टर कमला शर्मा, राकेश गुलेरिया, बीना गुलेरिया, सहकारी समिति के सचिव संजीव शर्मा प्रमुख रूप से मौजूद रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *