किसानो की एकता के सामने सरकार को बढ़ाना ही होगा गन्ना मूल्य – राजेन्द्र सिंह मलिक

किसानो की एकता के सामने सरकार को बढ़ाना ही होगा गन्ना मूल्य – राजेन्द्र सिंह मलिक
मुजफ्फरनगर : शुक्रवार को भारतीय किसान यूनियन अराजनैतिक द्वारा आयोजित धरना चौथे दिन भी चौ उधम सिंह मंत्री  के नेतृत्व में जारी रहा । शुक्रवार को धरने पर गठवाला खाप के चौधरी बाबा राजेन्द्र सिंह मलिक भी दलबल के साथ पहुंचे। जगपाल सिंह प्रदेश उपाध्यक्ष सहारनपुर ने भी साथियों सहित धरने पर अपना समर्थन दिया।
बना राजेंद्र सिंह मलिक ने कहा कि किसानो की एकता के सामने सरकार ही नही भगवान को भी झुकना पड़ता है सरकार की तो बात ही क्या है किसी सरकार की इतनी कुव्वत नही कि किसान की अनदेखी कर सके लेकिन किसान की एकता की जरूरत है। किसान देश को भोजन देता है लेकिन खुद तंगहाली में है। सरकार को किसान आधारित नीति बनानी होगी हमारी सरकार से मांग है कि गन्ने का मूल्य घोषित कर किसान को राहत दे।
धर्मेंद्र मलिक राष्ट्रीय प्रवक्ता भारतीय किसान यूनियन अराजनैतिक ने कहा कि किसानो को भ्रष्टाचार के विरुद्ध मोर्चा खोलना होगा। नीचे के अधिकारी सरकार की नीतियों को पलीता लगा रहे है। राजस्व अधिकारी भ्रष्टाचार में लिप्त है । ग्रामीण क्षेत्रों मे बिजली के बिल ठीक नही हो रहे है जिससे छूट का लाभ नहीं मिल रहा है
सरकार इस पर ध्यान दे। आंदोलन हमारा जारी रहेगा
हम इस आंदोलन को प्रदेशभर में लेकर जायेगे। इस आंदोलन के कारण आज किसान अपनी आवाज उठा रहे है। किसानो को अपनी बात कहते रहना होगा ,अगर आप अपनी आवाज बुलंद नही करेगे तो आपकी कोई सुनने वाला नहीं है।आज किसान संगठन भी बर्चस्व की लड़ाई में व्यस्त है। भारतीय किसान यूनियन अराजनैतिक पूरी ईमानदारी से किसानो के लिए संघर्ष करती रहेगी
धरने की अध्यक्षता नरेशपाल दरोगा एवं संचालन पिंटू ठाकुर ने किया
धरने को सुधार पंवार तहसील अध्यक्ष बुढ़ाना, राजीव नीटू दुल्हेरा,कुशलवीर ब्लॉक अध्यक्ष चरथावल, अवनीश ब्लॉक अध्यक्ष पुरकाजी,अनुज कुमार ब्लॉक अध्यक्ष मोरना, पवित अहलावत ब्लॉक अध्यक्ष खतौली, बब्बल ठाकुर ब्लॉक अध्यक्ष सदर, आदित्य बालियान शाहपुर ब्लॉक अध्यक्ष, प्रवीण बुढ़ाना ब्लॉक अध्यक्ष, बिजेंद्र बालियान प्रदेश सचिव, नीरज पहलवान मंडल अध्यक्ष सहारनपुर,अंकित चौधरी जिलाध्यक्ष , विपिन त्यागी मंडल सचिव, मोहित मलिक, दुष्यंत मलिक, सलमान गौड़ यासीन चौधरी ने संबोधित किया । धरने में भारी संख्या मे किसान उपस्थित रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *