भारत की विदेश नीति फिलिस्तीन के साथ, प्रधानमंत्री अकेले कर रहे हैं इजरायल की बात – त्रिलोक त्यागी

उत्तर प्रदेश में किसानों के साथ हो रहा है धोखा – त्रिलोक त्यागी

भारत की विदेश नीति फिलिस्तीन के साथ, प्रधानमंत्री अकेले कर रहे हैं इजरायल की बात – त्रिलोक त्यागी

उत्तर प्रदेश के जनपद मुजफ्फरनगर में पहुंचे राष्ट्रीय लोक दल के राष्ट्रीय महासचिव ने फिलिस्तीनी (हमास) और इजरायल के बीच छिड़ी जंग में फिलिस्तीन की हिमायत करते हुए मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि भारत की विदेश नीति फिलिस्तीन के साथ है उन्होंने कहा कि भारत के प्रधानमंत्री क्या कर रहे हैं यह समझ से परे है लेकिन भारत की विदेश नीति फिलिस्तीन के साथ है और प्रधानमंत्री इजरायल की बात कर रहे हैं उन्होंने कहा कि वह भी आतंकवाद के खिलाफ है मगर जिस तरह फिलिस्तीन में निर्दोष बच्चों और निर्दोष लोग मारे जा रहे हैं मानवाधिकारों का हनन हो रहा है उस पर बात होनी चाहिए वहां युद्ध इसराइल और हमास के बीच है
राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय महासचिव त्रिलोक त्यागी मुजफ्फरनगर में सर्कुलर रोड स्थित राष्ट्रीय लोक दल के जिला कार्यालय पर पहुंचे थे जहां बहुजन समाज पार्टी के वरिष्ठ नेता जियाउर रहमान के द्वारा बसपा छोड़कर राष्ट्रीय लोकदल का दामन थामा था और आज जियाउर रहमान के स्वागत के लिए कार्यक्रम आयोजित किया गया था इस कार्यक्रम में सैकड़ो बसपा के कार्यकर्ताओं ने राष्ट्रीय लोक दल में आस्था जताई है इसी दौरान रालोद के राष्ट्रीय महासचिव त्रिलोक त्यागी ने प्रेस वार्ता कर कहा था कि उत्तर प्रदेश में किसानों के साथ धोखा हो रहा है सरकार ने 2022 में किसानों की आय दुगनी करने की बात कही थी मगर किसानों की आय दोगुनी तो क्या आधी होकर रह गई यह सब सरकार की वजह से हो रहा है किसानों की फसलों के दाम बाढ़ नहीं रहे हैं गन्ने का भुगतान समय से नहीं हो रहा है और ना ही 14 दिन के बाद गन्ने के भुगतान पर ब्याज मिल रहा है इसके बाद मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि भारत की विदेश नीति फिलिस्तीन के साथ है मगर भारत के प्रधानमंत्री क्या कर रहे हैं यह उनकी समझ से परे है जब भारत की नीति की फिलिस्तीन के साथ है तो फिर प्रधानमंत्री इजरायल की बात क्यों कर रहे हैं उन्होंने कहा कि वहां जो निर्दोष बच्चों और लोग मारे जा रहे हैं यह मामला रुकना चाहिए
इस दौरान बसपा छोड़ राष्ट्रीय लोक दल की सदस्यता ग्रहण करने के बाद जियाउर रहमान ने नगर पालिका परिषद कैंपस में लगी चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा पर मालदर्पण करते हुए उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किए और मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि वह अपने पुराने परिवार में वापस आ गई है क्योंकि उनके पिता राष्ट्रीय लोकदल से सिपाही थे उन्हें एक बार राष्ट्रीय लोकदल से टिकट ही मिल गया था बाद में वह बस अब चले गए थे उन्होंने आंख बस में ही खोली थी मगर बचपन में अल्पसंख्यक समुदाय का अहित हो रहा था जिस वजह से उन्होंने बसपा छोड़कर राष्ट्रीय लोकदल की जनता ग्रहण की है और आगे वह राष्ट्रीय लोक दल के लिए ही काम करेंगे खुद आगे का उनका राजनीतिक भविष्य राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय नेता करेंगे

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *