जिला चिकित्सालय की इमरजेंसी में रिश्वत मांगे जाने को लेकर आजाद समाज पार्टी के जिलाध्यक्ष ने किया जमकर हंगामा

जिला चिकित्सालय की इमरजेंसी में रिश्वत मांगे जाने को लेकर आजाद समाज पार्टी के जिलाध्यक्ष ने किया जमकर हंगामा

उत्तर प्रदेश के जनपद मुजफ्फरनगर में जिला चिकित्सालय में उस समय हड़कंप मच गया जब आजाद समाज पार्टी के जिला अध्यक्ष कुलदीप सिंह ने अस्पताल स्टाफ पर एक इमरजेंसी में मरीज से इलाज के बदले 10 हजार रुपए की रिश्वत मांगने का आरोप लगा दिया तो जिला चिकित्सालय के स्टाफ में भगदड़ मच गई क्योंकि इस दौरान जिलाधिकारी अरविंद मल्काप्पा बंगाली भी जिला चिकित्सालय में निरीक्षण के लिए पहुंचे थे जिसमें आजाद समाज पार्टी के जिला अध्यक्ष कुलदीप सिंह ने जिलाधिकारी से भी जिला चिकित्सालय के इमरजेंसी वार्ड में मरीज से इलाज के बदले पैसे मांगने की शिकायत कर दी जिसके बाद जिलाधिकारी ने डॉक्टर और स्टाफ से वार्ता की मगर आप है कि तब तक रिश्वत मांगने वाला आरोपी छुप गया था जिलाधिकारी ने चौकी पर भारी जिला चिकित्सालय को निर्देश दिए की जिला चिकित्सालय में लगे सीसीटीवी कैमरा को खंगाल कर चेक किया जाए कि आखिर कौन व्यक्ति है जो इलाज के नाम पर रिश्वत मांग रहा है । जो भी हो उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाए लगातार
आजाद समाज पार्टी के जिला अध्यक्ष और लछेडा गांव के प्रधान कुलदीप सिंह ने बताया कि भोपा रोड पर गांव लछेड़ा के रहने वाले एक युवक विक्की का उस समय एक्सीडेंट हो गया था जब वह 2 महिलाओं के साथ बाइक पर सवार होकर देवबंद जा रहा था। दुर्घटना के बाद जिसको लेकर उसके परिजन तुरंत ही उसे जिला चिकित्सालय में लेकर पहुंचे जहां पर जिला चिकित्सालय में स्टाफ के एक व्यक्ति के द्वारा इलाज के 10 हजार रुपए की रिश्वत की मांग की गई जिसको लेकर मरीज के परिजनों के द्वारा तुरंत ही पूरी जानकारी उन्हें दी तो वह तुरंत ही जिला चिकित्सालय में पहुंचे जहां पर उनके द्वारा हंगामा करते हुए सीएमएस से मांग की कि वह ऐसे डॉक्टर एवं स्टाफ के खिलाफ कार्रवाई की जाए जो इमरजेंसी में आने वाले गरीब लोगों से रिश्वत की मांग करते हैं।  कुलदीप सिंह के द्वारा तुरंत ही पूरे मामले की जानकारी जिलाधिकारी अरविंद मल्लप्पा बंगारी को भी दी गई जिस पर जिलाधिकारी ने सख्त कार्रवाई के आदेश दिए गए हैं

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *