इण्डियन पोटाश लिमिटेड द्वारा शरदकालीन गन्ना बुवाई में ट्रेन्च विधि से सिंगल बड (एक आँख) द्वारा Cos-13235, Colk-14201 तथा Co-15023 प्रजाति की बुवाई शीरासागी नामक कीटनाशक दवा तथा फफूंदीनाशक थाईफोनेट मिथाईल द्वारा बीज उपचारित कर बुवाई कराई गई

इण्डियन पोटाश लिमिटेड द्वारा शरदकालीन गन्ना बुवाई में ट्रेन्च विधि से सिंगल बड (एक आँख) द्वारा Cos-13235, Colk-14201 तथा Co-15023 प्रजाति की बुवाई शीरासागी नामक कीटनाशक दवा तथा फफूंदीनाशक थाईफोनेट मिथाईल द्वारा बीज उपचारित कर बुवाई कराई गई

आज दिनांक 14.10.2023 को ग्राम रोहाना कलां में इण्डियन पोटाश लिमिटेड के प्रधान प्रबन्धक कुलदीप सिंह, विभागाध्यक्ष (गन्ना)  यतेन्द्र पंवार के नेतृत्व में कृषक सुबोध त्यागी के यहां शरदकालीन गन्ना बुवाई में ट्रेन्च विधि से सिंगल बड (एक आँख) द्वारा Cos-13235, Colk-14201 तथा Co-15023 प्रजाति की बुवाई शीरासागी नामक कीटनाशक दवा तथा फफूंदीनाशक थाईफोनेट मिथाईल द्वारा बीज उपचारित कर बुवाई कराई गई है। प्रधान प्रबन्धक कुलदीप सिंह ने शरदकालीन गन्ने की बुवाई के लाभ व नई उन्नतशील गन्ने की प्रजातियों की विशेषता के बारे में विस्तृत जानकारी दी। श्री यतेन्द्र पंवार विभागाध्यक्ष (गन्ना) ने गन्ने में प्रयुक्त होने वाले प्रमुख उर्वरकों व उनका सही समय, सही मात्रा तथा प्रयोग करने की सही विधि के बारे में जानकारी दी तथा बताया कि Co-0238 की बुवाई न करके उसके स्थान पर नई प्रजातियों जैसे- Co-0118, Cos-13235, Colk-14201 तथा Co-15023 की बुवाई करने तथा साथ-साथ सहफसली बुवाई करने की किसानों को सलाह दी गई। आई.पी.एल. गन्ना विभाग से उप गन्ना प्रबन्धक सविन्द्र कुमार, संजीव चौधरी, ओमकार सिंह, अविनाश त्यागी, शुभम त्यागी एंव कृषकगण भी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *