जेल अधीक्षक सीताराम शर्मा ने 12 साल से परिवार से बिछड़े युवक को परिवार से मिलाया

जेल अधीक्षक सीताराम शर्मा ने 12 साल से परिवार से बिछड़े युवक को परिवार से मिलाया

12 साल से बिछड़े बच्चे से मिलकर परिजनों ने जेल अधीक्षक था किया धन्यवाद

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार में जेल मंत्री धर्मवीर प्रजापति की मुहिम लगातार रंग ला रही है धर्मवीर प्रजापति के निर्देशानुसार जेलो को सुधार ग्रह के रूप में किया जा रहा है तब्दील इसी कड़ी में मुजफ्फरनगर जिला कारागार के जेल अधीक्षक सीताराम शर्मा ने आज जो काम करके दिखाया है वह अपने आप में एक मानवता का परिचय है जिसमें जेल अधीक्षक ने मानवता का परिचय देते हुए 12 साल से अपने परिवार से बिछड़े एक युवक को उसके परिवार से मिलाया वहीं अपने बच्चे से मिलकर परिवार ने जेल अधीक्षक का धन्यवाद दिया
दरअसल मामला जिला कारागार मुजफ्फरनगर का है जहां जेल अधीक्षक सीताराम शर्मा ने बताया कि वह हर शनिवार को परेड करके बंदियों से मिलते हैं 15 दिन में 22 – 23 साल का एक युवक सामने आया है जो लगभग 11 से 12 साल पहले अपने परिजनों से बिछड़ गया था और गलत संगत में पड़कर जेल में पहुंच गया था। यह किशोर अतुल उर्फ छोटे पुत्र चंद्रशेखर निवासी कौशांबी पिता की डांट खाकर घर से उस समय फरार हो गया था जब इसकी उम्र लगभग 8 वर्ष थी तभी से यह अपने परिवार से अलग था इसका इसके परिजनों को कोई अता-पता नहीं था जब यह मामला उनके संज्ञान में आया तो उन्होंने जेल के अधिकारियों को इस बच्चे के परिवार को ढूंढने के लिए लगाया गया जेल प्रशासन द्वारा कई दिन की मशक्कत के बाद कौशांबी इलाहाबाद में युवक के परिजनों को ढूंढ निकाला और आज इस युवक का परिवार के लोग जिला कारागार में पहुंचे जिन्होंने अपने बच्चे से मुलाकात की इनका कहना है कि यह लगभग 8 वर्ष की उम्र में पिता की डॉट खाने के बाद घर से भाग गया था जिसका कोई अता-पता नहीं था अपने बच्चे से मिलकर परिवार आज बहुत खुश है
वही वही जेल में बंद युवक के परिजन जैसे ही उससे मिलने जेल में पहुंचे तो युवक की मां अपने बेटे से मिलकर काफी देर तक रोई युवक के परिजनों ने जेल अधीक्षक सहित पूरे जेल प्रशासन का धन्यवाद दिया
दरअसल उत्तर प्रदेश में योगी सरकार में कारागार मंत्री बनने के बाद धर्मवीर प्रजापति ने जेल में काफी सुधार कराए हैं सबसे बड़ी बात यह है कि मंत्री बनने के बाद धर्मवीर प्रजापति ने सबसे पहले वर्षों से जेल में बंद उन बंदियों को रिहा कराया जो मामूली जुर्माना जमा न करने के कारण जेल में सड़ रहे थे और उनके परिजन भी जुर्माना भरने के लिए असहाय थे जेल मंत्री ने सामाजिक संगठनों की मदद से ऐसे 600 से भी अधिक बंदियों को जेल से रिहा कराया उसी कड़ी में जेल में हो रहे व्यापक सुधार में प्रत्येक शनिवार को जेल अधीक्षक जेल में बंदियों से मिलते हैं और उनकी समस्याएं सुनते हैं इसी कड़ी में आज एक परिवार को इतनी बड़ी खुशी मिल गई थी उनका बरसो से बिछडा हुआ बच्चा मिल गया
अपने बच्चों से मिलने के बाद युवक के परिजनों ने जेल प्रशासन को धन्यवाद दिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *