मुजफ्फरनगर विकास प्राधिकरण मुजफ्फरनगर की बड़ी कार्यवाही से मचा हड़कंप

मुजफ्फरनगर विकास प्राधिकरण मुजफ्फरनगर की बड़ी कार्यवाही से मचा हड़कंप

अवैध कॉलोनी काटने वाले लोगों के खिलाफ की जा रही है सख्त कार्यवाही


मुजफ्फरनगर विकास प्राधिकरण के विकास क्षेत्र खतौली क्षेत्र के अन्तर्गत जिलाधिकारी व एमडीए उपाध्यक्ष अरविंद मल्लप्पा बंगाली के आदेशों के अनुपालन में तथा आदित्य प्रजापति, सचिव विकास प्राधिकरण के निर्देशन में उप जिलाधिकारी खतौली, नायब तहसीलदार, खतौली, स्थानीय पुलिस बल एवं पी.ए.सी. की उपस्थिति में 1 जुलाई 2023 दिन मंगलवार को ओमपाल सिंह आदि द्वारा ग्राम भायंगी, एन.एच.-58 पर लगभग 12 बीघा भूमि , किशनपाल आदि द्वारा एन. एच. 58, ग्राम भंगेला पर लगभग 10 बीघा, अंकित कुमार पुत्र, अंकित पुत्र प्रताप सिंह आदि द्वारा ग्राम टबीटा रोड लगभग 7 बीघा, रविन्द्र, देवेन्द्र पुत्रगण सदाराम द्वारा हरबंस डिग्री कॉलेज के सामने लगभग 5 बीघा व श्रीमती मुबसरा आदि द्वारा तहसील रोड खतौली में लगभग 12 बीघा कुल क्षेत्रफल 45 बीघा में अनाधिकृत रूप से (प्राधिकरण से तलपट मानचित्र स्वीकृत कराये बिना) अवैध प्लॉटिंग के निर्माण को विकास प्राधिकरण द्वारा ध्वस्त कर दिया गया। इसके उपरान्त संजीव कुमार पुत्र हरेन्द्र पाल, मीरापुर रोड, खतौली में लगभग 6000 वर्ग मटर में संचालित अवैध श्रावणी बैंकट हॉल, श्रीमती अतर कली पत्नी हरेन्द्र पाल आदि द्वारा मौहल्ला पुरबियान सरकारी अस्पताल के सामने खतौली में लगभग 1444 वर्ग मीटर में स्वीकृत मानचित्र के विरूद्ध संचालित गणेश गार्डन, संजय चौहान आदि द्वारा नहर पटरी मार्ग, खतौली में लगभग 150.00 वर्ग मीटर में व्यवसायिक अवैध निर्माण, अहसान, भूड, निकट पी०एन०बी० के पास खतौली में लगभग 100 वर्ग मीटर में व्यवसायिक अवैध निर्माण व अभिषेक वत्स पुत्र सुरेशचन्द शर्मा आदि द्वारा ग्राम भायंगी में लगभग 2500 वर्गगज में शैक्षिक अवैध निर्माण, जिनका प्राधिकरण से कोई मानचित्र स्वीकृत नहीं था, को विकास प्राधिकरण द्वारा सील किया गया। उक्त अवैध निर्माण , प्लॉटिंग, बैंकट हॉल, शैक्षिक संस्थान के विरूद्ध प्राधिकरण द्वारा पूर्व में नोटिस जारी किये गये थे। जिसमें चालानी कार्यवाही के उपरान्त पूर्व में ध्वस्तीकरण , सील के आदेश निर्गत किये गये थे, परन्तु अवैध निर्माण प्लॉटिंग के भू-स्वामियों द्वारा स्थल से अवैध निर्माण , प्लॉटिंग को नहीं हटाया गया था तथा न ही कोई शमन मानचित्र स्वीकृति हेतु प्राधिकरण में प्रस्तुत किया गया था।

मंगलवार 1 जुलाई 2023 को मुजफ्फरनगर विकास प्राधिकरण द्वारा उक्त 5 स्थलों पर लगभग कुल 45 बीघा भूमि पर विकसित की जा रही अवैध निर्माण, प्लॉटिंग के विरूद्ध ध्वस्तीकरण की कार्यवाही की गयी है एवं कुल 5 स्थानों पर सील की कार्यवाही की गयी। अवैध कालोनियों के ध्वस्तीकरण एवं सीलिंग की कार्यवाही के समय अधिशासी अभियंता विनीत अग्रवाल, अवर अभियन्ता राजीव कोहली के साथ-साथ स्थानीय सुपरवाईजर व प्राधिकरण स्टाफ भी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *