पश्चिमांचल निर्माण पार्टी कांवड यात्रा के बाद करेगी पश्चिमी उत्तर प्रदेश को अलग राज्य की मांग को लेकर बडा आन्दोलन 

पश्चिमांचल निर्माण पार्टी कांवड यात्रा के बाद करेगी पश्चिमी उत्तर प्रदेश को अलग राज्य की मांग को लेकर बडा आन्दोलन

उत्तर प्रदेश के जनपद मुज़फ्फरनगर में गुरुवार को साऊथ सिविल लाईन मे पश्चिमांचल निर्माण पार्टी के पदाधिकारियों की बैठक का आयोजन हुआ बैठक की अध्यक्षता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सतेंद्र सिंह व संचालन राष्ट्रीय प्रवक्ता संजीव मलिक मासूम ने किया। बैठक को सम्बोधित करते हुए पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सतेन्द्र बालियान ने कहा की पश्चिमी उत्तर प्रदेश अलग राज्य गठन की मांग को तेज करने के लिए तीस जून से पहले हमे बघरा ब्लाक के तावली, बरवाला , खतोली ब्लाक के गांव भैंसी ,शाहपुर ब्लाक के गांव कसेरवा मे बैठको का आयोजन कर लोगो को इस मुहिम से जुडने के लिए प्रेरित किया जाएगा। 16 जौलाई शिवरात्री के बाद जनपद मुख्यालय पर पार्टी सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा। इस प्रकार के आयोजन पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 21 जनपदो मे आयोजित कर 2024 के लोकसभा चुनाव मे पश्चिमी की सभी सीटो पर पार्टी के योग्य उम्मीदवारों को सांसद का चुनाव लडाया जाएगा। सभी जनपदो मे ग्राम स्तर तक बूथ कमेटियों का गठन कर पार्टी की नीतियों को जन जन तक पंहुचाया जाएगा। राष्ट्रीय प्रवक्ता संजीव मलिक मासूम ने कहा पश्चिमी उत्तर प्रदेश अलग राज्य के गठन के बिना आठ करोड की आबादी का भला सम्भव नही है। उन्होने कहा हम नही किसी से भीख मांगते हम हैं अपना हक मांगते। जिलाध्यक्ष अनुज बालियान ने कहा की छोटे राज्यो विकास तेजी से होता है ।उत्तर प्रदेश से अलग हुआ उत्तराखण्ड विकास की दौड मे हमसे आगे । जब हक मागने से नही मिलता तब आन्दोलन करना पडता है । जिसके लिए कार्ययोजना तैयार कर हमे बडा आन्दोलन करना पडेगा। युवा जिलाध्यक्ष मुजफ्फरनगर शौकीन चौधरी ने कहा प्रयागराज हाईकोर्ट की दूरी अधिक होने की वजह से विश्व का सबसे मंहगा न्याय पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लोगो को मिल रहा है। राष्ट्रीय अध्यक्ष सतेन्द्र सिंह ने कहा कि वर्तमान मे उत्तर प्रदेश मे तीन राज्यों पश्चिमी उत्तर प्रदेश, बुन्देलखण्ड ,पूर्वांचल सहित भारत मे बीस नये राज्य गठन के अलग अलग संगठन आन्दोलन कर रहे हैं ।  2024 से पहले नये सांसद क्षेत्रो के परिसीमन का कार्य चल रहा है।नये संसद भवन की संरचना भी भारत की जनसंख्या व भोगोलिक स्थिति को ध्यान मे रखकर की गई है। अतः पश्चिमांचल निर्माण पार्टी प्रधानमन्त्री भारत सरकार से निवेदन करती है की राज्य पुनर्गठन आयोग गठित कर नये राज्यो की घोषणा 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले करने की घोषणा करे ताकि जन सामान्य को मूलभूत सुविधा उपलब्ध हो सके। पार्टी कोषाध्यक्ष डा. राजेश कुमार ने कहा अलग पश्चिमी प्रदेश बनने पर शिक्षा स्वास्थ्य ओर स्वछता के स्तर मे सुधार होगा प्रदेश की अलग राजधानी , हाईकोर्ट बनेगा अपनी अलग सांसकृतिक पहचान बनेगी। राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य मनीष चौधरी भैसी ने कहा कि हम शान्तिपूर्ण आन्दोलन कर अपना हक लेकर रहेंगे इसके बाद भी सरकार यदि हठधर्मिता करती है तो हम प्रत्येक जिला मुख्यालय पर अन्शन करेंगे। मौहम्मद कय्यूम, अनिरूद्ध प्रताप सिंह,ईनायत, चौधरी राममेहर सिंह, संजय कुमार आदि सदस्य बैठक मे उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *