जेल अधीक्षक भीमसेन मुकुंद को जेल में भोजन की गुणवत्ता सुधार कर FSSAI से फाइव स्टार रेटिंग का प्रमाण पत्र दिलाने पर भारत गौरव रतन श्री सम्मान परिषद द्वारा किया गया सम्मानित

जेल अधीक्षक भीमसेन मुकुंद को जेल में भोजन की गुणवत्ता सुधार कर FSSAI से फाइव स्टार रेटिंग का प्रमाण पत्र दिलाने पर भारत गौरव रतन श्री सम्मान परिषद द्वारा किया गया सम्मानित

 

भारत गौरव रत्न श्रीसम्मान परिषद ( भारत सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त) द्वारा जेल अधीक्षक भीमसैन मुकुंद को उत्तर प्रदेश की जेलों में भोजन की गुणवत्ता में सुधार कर FSSAI से फाइव स्टार रेटिंग का प्रमाण पत्र प्राप्त करने निभाई गई अहम भूमिका के लिए, नई दिल्ली के आंबेडकर इंटरनेशन केंद्र में सम्मानित किया गया । भारत गौरव रत्न श्रीसम्मान परिषद द्वारा जेल अधीक्षक भीमसैन मुकुंद को संस्था की विश्वस्तरीय सदस्यता भी प्रदान की गई है । इस प्रमाण पत्र के प्राप्त होने पर जिलाधिकारी संजय कुमार सिंह और पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार मीणा द्वारा जेल अधीक्षक को प्रसन्नता व्यक्त करते हुए बधाई दी गई । इससे कारागार के सभी अधिकारियों कर्मचारियों ने जेल अधीक्षक को प्रसन्नता व्यक्त करते हुए बधाई दी गई । जेलर अखिलेश कुमार द्वारा बताया गया कि हमारी जेल का नाम इस समय विश्व स्तर जाना जाने लगा है । प्रतियोगी परीक्षाएं में FSSAI द्वारा फाइव स्टार भोजन की रेटिंग दिए जाने पर प्रश्न पूछे जा रहे है । जेल अधीक्षक भीमसैन मुकुंद और जेल का नाम इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज हुआ है इससे ज्यादा खुशी की बात और क्या होगी। जेल अधीक्षक भीमसैन मुकुंद से पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रेडियो कार्यक्रम “मन की बात ” में प्रधानमंत्री जी द्वारा 72 वे एपिसोड में दिनाँक 27.12.20 को मेरी कौशांबी जेल पर तैनाती के दौरान मेरे द्वारा फटे पुराने कंबलों से कैदियों से श्रम करके बनवाए गए काऊ की कोट की सराहना की गई थी ।दिनांक 30 अप्रैल को मन की बात 100 वें कार्यक्रम के अवसर पर मुझे नई दिल्ली विज्ञान भवन में आयोजित सम्मेलन में विशिष्ठ अतिथि के रूप में आमंत्रित किया गया था। मन की बात 100 वें कार्यक्रम की स्पेशल स्क्रीनिंग के लिए राज्यभवन में आयोजित कार्यक्रम में भी आमंत्रित किया गया था । राजभवन में महामहिम राज्यपाल द्वारा “मन की बात” प्रतीक चिह्न एवं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक किताब देकर सम्मानित किया गया। राजभवन में आयोजित कार्यक्रम में जिला जेल फतेहगढ़ में ओ डी ओ पी के अंतर्गत ब्लॉक प्रिंटिंग कर कैदियों द्वारा प्रिंट की गई शॉल भी भेट की गई। राजभवन में आयोजित कार्यक्रम के दौरान जेल अधीक्षक द्वारा जेलों में कैदियों के राशन में श्रीअन्न को शामिल किया जाने की अपने मन की बात महामहिम से कही गई । जिस पर साकारात्मक कार्यवाही होना आरंभ होने की दिशा में कार्य होना आरंभ हो चुका है । जेल अधीक्षक ने बताया कि जिला कारागार फतेहगढ़ को फूड सेफ्टी मैनेजमेंट का ISO 22000:2018 प्रमाणपत्र भी प्राप्त है । ऐसा प्रमाणपत्र प्राप्त करने वाली देश की प्रथम कारागार है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *