मुजफ्फरनगर में 6 व 7 अप्रैल को होगा पशु मेले और कृषि प्रदर्शनी का आयोजन, पशु मेले और कृषि प्रदर्शनी की तैयारियां जोरों पर

मुजफ्फरनगर में 6 व 7 अप्रैल को होगा पशु मेले और कृषि प्रदर्शनी का आयोजन

पशु मेले और कृषि प्रदर्शनी की तैयारियां जोरों पर

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के आने की तैयारियों में जुटा प्रशासनिक अमला

उत्तर प्रदेश के जनपद मुजफ्फरनगर में राष्ट्रीय स्तर के पशु मेले और कृषि प्रदर्शनी का आयोजन किया जा रहा है जो नुमाइश ग्राउंड में 6 व 7 अप्रैल को होगा जिसमें उत्तर भारत के सबसे बेहतरीन पशु शामिल होंगे और साथ है किसानों को तकनीकी ज्ञान देने के लिए कृषि और पशुपालन से जुड़े वैज्ञानिक भी इस पशु मेले में आएंगे नुमाइश ग्राउंड में दो बड़े पंडाल बनाए गए हैं जिसमें एक पंडाल में डेढ़ सौ स्टाल लगाई जाएंगी जिसमें किसानों को तकनीकी ज्ञान दिया जाएगा यह पंडाल वातानुकूलित होगा दूसरे पंडाल में किसानों के बैठने की और मनोरंजन की व्यवस्था होगी इसके साथ ही नुमाइश ग्राउंड में लगभग 12 सौ पशु बाहर से आने हैं और उनकी प्रदर्शनी लगाई जाएगी इसके साथ ही रैंप बनाया गया है उस रेंट पर पशु शो होगा यानी गाय और भैंस उस रैंप पर कैटवॉक करती देखी जा सकती है इस पशु मेले में आसपास से लेकर दूर-दराज तक लाखों किसानों के पहुंचने की संभावनाएं हैं उसको लेकर पूरी तरह से तैयारियां हो चुकी है किसानों के रहने खाने की व्यवस्था सरकार वहन करेगी इसके अलावा पशुओं को लाने ले जाने का खर्चा भी सरकार ही वहन करेगी इस पशु मेले में अलग-अलग नस्ल के पशु भाग लेंगे जिन्हें 25 हजार से लेकर अलग-अलग केटेगरी में 5 लाख तक का इनाम भी दिया जाएगा पशु मेले की तैयारियां जोरों पर है केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने नुमाइश ग्राउंड पहुंचकर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों से वार्ता की क्योंकि देश के असरदार कैबिनेट मंत्री नितिन गडकरी इस मेले का उद्घाटन करेंगे जिस कारण से उनके आने की व्यवस्थाओं को लेकर भी बातचीत हुई दूरदराज से आने वाले किसानों के वाहनों और अन्य परिवहन की व्यवस्थाओं को लेकर पार्किंग के बारे में बातचीत की गई कुल मिलाकर केंद्रीय पशुपालन डेयरी और मत्स्य राज्य मंत्री संजीव बालियान खुद इन व्यवस्थाओं का बारीकी से जायजा लेते नजर आ रहे हैं पिछले कई दिनों से केंद्रीय मंत्री इस मेले को सफल बनाने के लिए लगे हुए हैं केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने कहा कि उन्होंने सभी किसान संगठनों से और किसानों से अपील की है कि इस मेले में पहुंचे और आने वाले वैज्ञानिकों से खेती और पशुपालन के बारे में तकनीकी ज्ञान प्राप्त करें उन्होंने किसानों से भी अपील की है कि ज्यादा से ज्यादा संख्या में इस पशु मेले में पहुंचकर लाभ ले

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *