केंद्रीय और राज्य कर्मचारी चुनाव में बढ़ा सकते हैं सरकार की मुश्किलें

केंद्रीय और राज्य कर्मचारी चुनाव में बढ़ा सकते हैं सरकार की मुश्किलें

पुरानी पेंशन बहाली को लेकर राज्य और केंद्रीय कर्मचारियों ने जिला कलेक्ट्रेट पर किया धरना प्रदर्शन

पुरानी पेंशन की बहाली को लेकर राज्य एवं केन्द्रीय कर्मचारियों ने जिला कलेक्ट्रेट मुजफ्फरनगर पर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया मंगलवार को राज्य कर्मचारियों और केन्द्रीय कर्मचारियों ने जिला कलेक्ट्रेट में एक दिवसीय धरना दिया जिसकी अध्यक्षता रविन्द्र सिंह नागर व संचालन महामंत्री कुलदीप शर्मा ने किया। जिसमें राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद उत्तर प्रदेश के जिला अध्यक्ष रविन्द्र सिंह नागर ने बताया कि कर्मचारियों की पुरानी पेंशन की मांग पिछले 15 सालों से चली आ रही है जिसका शासनादेश अभी तक प्रदेश सरकार ने लागू नहीं किया है जबकि राजस्थान, झारखण्ड, छत्तीसगढ़, हिमाचल प्रदेश, पंजाब आदि प्रदेशों ने अपने यहाँ पुरानी पेंशन बहाल कर दी है। कर्मचारियों के हितो को देखते हुए प्रदेश एवं केन्द्र की सरकार को नी जल्दी से जल्दी इसे लागू कर देना चाहिए। महामंत्री कुलदीप शर्मा ने बताया कि पुरानी पेंशन हमारी मांग नहीं अधिकार है, एक कर्मचारी 40 वर्षो तक प्रदेश व केन्द्र सरकार की सेवा करता है लेकिन उसके बाद खाली हाथ घर जाना पडता है। यह उचित नहीं है। बाबूलाल सिंचाई विभाग जिनकी नियुक्ति 10 फरवरी 2008 में हुई थी और 31 अक्टूबर 15 सेवानिवृत्त हो गये थे न्यू पेंशन स्कीम में इनकी पेंशन शून्य बनी थी जो कि एक कर्मचारी के साथ अन्याय है। कलेक्ट्रेट कर्मचारी संघ के अध्यक्ष नरेन्द्र सिंह ने कहा कि जब तक प्रदेश अथवा केन्द्र सरकार पुरानी पेंशन बहाली का शासनादेश लागू नहीं करती हमारे समस्त कर्मचारी आन्दोलनरत रहेंगे तथा कलेक्ट्रेट कर्मचारी संघ आज पूर्णतया हडताल पर है। धरने में रेलवे मैन्स यूनियन संघ, इन्कम टैक्स कर्मचारी संघ, उत्तर प्रदेश डिप्लोमा इंजीनियर महासंघ ग्राम विकास अधिकारी संघ, ग्राम पंचायत अधिकारी संघ, ग्राम पंचायत राज सफाई कर्मचारी संघ, उत्तर प्रदेश मिनिस्ट्रिीयल कर्मचारी संघ पशुधन अधिकार कर्मचारी संघ, बाल विकास सेवा एंव पुष्टाहार संघ उत्तर प्रदेश, आईटीआई कर्मचारी संघ, डी आर डी ए कर्मचारी संघ कर्मचारी संघ, विकास भवन कर्मचारी संघ, श्रम विभाग कर्मचारी संघ, अधीनस्थ कृषि सेवा संघ, वाणिज्य कर कर्मचारी संघ राजस्व संग्रह अमीन संघ, चकबन्दी लेखपाल संघों के कर्मचारियों ने भागीदारी की।
धरने को ई. रजनीश कुमार ई. मेहर सिंह, विकास कुमार, राहुल चौधरी, राजीव शर्मा, उमा चौधरी अनिता शर्मा, एम.ए. अलवी, राजपाल शर्मा, अशोक कुमार शर्मा, शैलेन्द्र चौधरी, प्रदीप कुमार शर्मा, जितेन्द्र सिंह, आदेश कुमार सुनील शर्मा, राकेश कुमार, हरीश चन्द, निसार अहमद प्रदीप शर्मा आदि कर्मचारी माताओं ने सम्बोधित किया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *