हरी टोपी, झंडे और डंडे के साथ पंचायत में कूच करें किसान – नरेश टिकैत

 भाकियू का अनिश्चितकालीन धरना राजकीय इंटर कॉलेज के मैदान में जारी है।  भाकियू अध्यक्ष नरेश टिकैत ने 10 फरवरी को होने वाली महापंचायत में किसानों अधिक से अधिक संख्या में हरी टोपी और डंडे में झंडा लगाकर पंचायत स्थल पर पहुंचने का आह्वान किया है।

भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत ने कहा कि 10 फरवरी की महापंचायत में किसान अधिक से अधिक संख्या में भाग लें। हरी टोपी और डंडे में झंडा लगाकर पंचायत स्थल पर पहुंचे। वर्तमान में अगर किसान एकजुट नहीं हुए तो भविष्य बर्बाद हो जाएगा। भाजपा सरकार किसानों को दो फाड़ करने में जुटी है। फसलों का वाजिब दाम नहीं दिया जा रहा है।सरकार ने कहा था कि किसानों की आय दोगुनी कर देंगे, लेकिन फसलों के दाम भी नहीं मिल रहे हैं। मंगलवार को किसान भवन पर आयोजित पंचायत में टिकैत ने कहा कि महापंचायत को सफल बनाने के लिए किसान ट्रैक्टरों के साथ अधिक से अधिक संख्या में एकत्र होकर अपनी ताकत दिखाएं। सभी किसान अनुशासन के साथ पंचायत को सफल बनाए। पंचायत की सफलता के लिए अनुशासन प्रथम चरण है। फैसला लिया गया कि किसानों की खाने की व्यवस्था के लिए प्रत्येक गांव से एक भंडारे का आयोजन महापंचायत स्थल के पास किया जाएगा। दिनभर किसानों का आवागमन राजकीय इंटर कॉलेज के मैदान में जारी है। रालोद के प्रतिनिधिमंडल ने पहुंचकर  भाकियू प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत से मुलाकात की और समर्थन दिया । रालोद विधानमंडल के नेता राजपाल बालियान, विधायक चंदन सिंह चौहान, विधायक मदन भैया, राष्ट्रीय संगठन सचिव अजीत राठी, जिलाध्यक्ष संदीप मलिक और चेयरमैन कृष्णपाल राठी शामिल रहे। जिलाध्यक्ष ने कहा कि वह किसानों के साथ हैं| भाकियू प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत ने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के बयान पर प्रतिक्रिया में कहा कि कुछ लोग जाति और धर्म के नाम पर लोगों को लड़ाना चाहता हो तो उस देश का क्या होगा। महापंचायत में कई राज्यों के किसान हिस्सा लेंगे, जिसमें गन्ना भुगतान 10 साल पुराने ट्रैक्टर और गाड़ियों को बंद कराने और बिजली के मुद्दों पर चर्चा होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *