संत शिरोमणि रविदास जी की 646 वी जयंती के अवसर पर मोहल्ला खादर वाला के द्वारा शिव चौक पर किया भंडारे का आयोजन

संत शिरोमणि रविदास जी की 646 वी जयंती के अवसर पर मोहल्ला खादर वाला के द्वारा शिव चौक पर किया भंडारे का आयोजन

जनपद मुजफ्फरनगर में संत शिरोमणि रविदास जी की 646 वी जयंती बड़े ही धूमधाम के साथ मनाई गई इस अवसर पर मोहल्ला खादर वाला की ओर से शिव चौक पर एक विशाल भंडारे का आयोजन किया गया। जिसका शुभारंभ राज्य मंत्री कपिल देव अग्रवाल, पुरकाजी विधायक अनिल कुमार, बसपा नेता जियाउर्रहमान, सपा नेता राकेश शर्मा, क्षेत्रीय मंत्री भाजपा पुरुषोत्तम गौतम के द्वारा फीता काटकर शुभारंभ किया गया इस अवसर पर सभी अतिथियों के द्वारा संत शिरोमणि रविदास के चित्र के सम्मुख दीप प्रज्वलित कर पुष्प अर्पित की गई। भंडारे के दौरान हलवा एवं ताहरी का प्रसाद सभी अतिथियों के द्वारा श्रद्धालुओं को वितरित किया गया। इस अवसर पर बसपा नेता जियाउर्रहमान ने कहा कि संत गुरु रविदास ने समता मूलक समाज की रचना में अपना विश्वास व्यक्त किया है। जहां कोई छोटा बड़ा हो, सब सम बसै। गुरु रविदास जी ने सर्वदा विघटनकारी तत्वों से अलग रहने के लिए उपदेश दिया। गुरु जी की प्रत्येक पंक्ति से यही सन्देश मिलता है कि पराेपकार मानवता परमपिता परमेश्वर से स्नेह कर मनुष्य मोक्ष को प्राप्त करता है। एवं राज्य मंत्री कपिल देव अग्रवाल के द्वारा संत रविदास के जीवनी पर प्रकाश डालते हुए कहा कि रविदास जी मध्यकाल के प्रमुख भक्त कवि थे। उनकी रचनाओं में सहिष्णुता और भाईचारे का संदेश निहित हैं। उन्होंने कहा कि अपनी रचनाओं के माध्यम से समाज में व्याप्त बुराईयों को दूर करने में महत्वपूर्ण योगदान तथा कार्यशील जीवन के मध्यम से जात-पात के विभाजनकारी भेद भाव को मिटाकर मानव मात्र की एकता का संदेश दिया। पुरकाजी विधायक अनिल कुमार ने इस अवसर पर कहा कि संत रविदास ने समाज में व्याप्त ऊंच-नीच की भावना व ईश्वर के नाम पर किये जाने वाले विवाद को सारहीन एंव निरर्थक बताया। उन्होंने कहा संत रविदास ने सबको परस्पर मिल जुलकर प्रेम पूर्वक रहने का उपदेश दिया। इस मौके पर सीताराम, बबलू, हिम्मत सिंह, संदीप रंजन, राधेश्याम, कुलदीप कुमार, महिपाल, गोल्डी, सौरभ, प्रदीप कुमार, संजीव कुमार, आदित्य, कुशल देवी, गीता रानी, निशा देवी, रेनू रंजन (जुली)  ज्योति देवी, शिमला देवी, जग रोशनी सहित काफी संख्या में महिलाएं एवं पुरुष मौजूद रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *