रेप और हत्या के मामले में एक को फांसी, दूसरे को उम्रकैद

मुजफ्फरनगर। जिले की अदालत ने 3 साल की मासूम बच्ची के अपहरण, फिर बलात्कार और उसके बाद हत्या के आरोप में आज दो आरोपियों को दोषी करार दिया है। अदालत ने इनमें से एक आरोपी को फांसी की सजा तो दूसरे को उम्रकैद की सजा सुनाई है।

                                                                                                             

जिला शासकीय अधिवक्ता राजेश शर्मा ने बताया कि जानसठ थाना क्षेत्र के एक मोहल्ला निवासी 3 वर्षीय बालिका को 12 जून 2022 को सुबह करीब 8:15 पर सोनी उर्फ सुरेंद्र तथा राजीव उर्फ टोटा मंदिर में माथा टेकने के बहाने बाइक पर बैठाकर घर से अपहरण कर ले गए थे। बालिका जब काफी देर तक घर नहीं लौटी तो परिजनों ने उसकी तलाश शुरू की। जिसके बाद बालिका को पास के जंगल से घायल और बेहोशी की अवस्था में बरामद किया गया था। 3 वर्षीय बालिका से रेप के बाद आरोपी उसे जंगल में छोड़ कर फरार हो गए थे। जिसके बाद गंभीर हालत में बालिका को जिला अस्पताल भर्ती कराया गया था। लेकिन वहां से उसे हायर सेंटर रेफर कर दिया गया था। 2 दिन बेहोशी की हालत में जिंदगी और मौत के बीच जूझने के बाद पीड़िता का देहांत हो गया था। अधिवक्ता राजीव शर्मा ने बताया कि थाना जानसठ पुलिस ने 3 वर्षीय बालिका के अपहरण, रेप और हत्या के मामले में मुख्य आरोपी सोनी उर्फ सुरेंद्र तथा राजीव उर्फ टोटा के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारी की थी। उन्होंने बताया कि इस मुकदमें की सुनवाई विशेष पोक्सो एक्ट कोर्ट के जज बाबूराम ने की। घटना की विवेचना इंस्पेक्टर विश्वजीत ने 25 दिन में पूर्ण कर कोर्ट में चार्जशीट जमा कर दी थी। जबकि 6 माह के भीतर सुनवाई पूरी करते हुए पोक्सो एक्ट कोर्ट के जज बाबूराम ने अपहरण, रेप और हत्या का दोषी ठहराते हुए मुख्य आरोपी सोनी उर्फ सुरेंद्र को फांसी की सजा सुनाई। जबकि सहआरोपी राजू उर्फ टोटा को अपराधिक साजिश रचने के मामले में दोषी पाते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *