काऊ सेंचुरी में किसानों की जमीन आने के मामले में राष्ट्रीय महिला एकता संगठन ने कलेक्ट्रेट में किया धरना प्रदर्शन

काऊ सेंचुरी में किसानों की जमीन आने के मामले में राष्ट्रीय महिला एकता संगठन ने कलेक्ट्रेट में किया धरना प्रदर्शन

रिया किन्नर के नेतृत्व में महिलाओं ने कलेक्ट्रेट में किया धरना प्रदर्शन

जनपद मुजफ्फरनगर में इस समय थाना पुरकाजी क्षेत्र के गांव चंदन में बन रही काऊ सेंचुरी काफी चर्चाओं में है जिसको लेकर विरोध प्रदर्शन जारी है। उत्तर प्रदेश में आवारा गोवंश से निजात दिलाने के लिए केंद्र और प्रदेश सरकार के सहयोग से केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने पुरकाजी क्षेत्र में काऊ सेंचुरी बनाने का निर्णय लिया था जिसको लेकर टीम द्वारा सर्वे भी किया गया लगभग 800 बीघे में बनने वाली इस काऊ सेंचुरी में एक मैच फस गया है मामला यह है कि लगभग आधा दर्जन से भी ज्यादा पट्टेदार किसानों की जमीन प्रस्तावित काऊ सेंचुरी में आ रही है जिसमें किसानों का कहना है कि हमारी जमीन छोड़कर काऊ सेंचुरी बनाई जाए इसको लेकर पहले प्रधान संगठन सामने आया था मगर अब राष्ट्रीय महिला एकता संगठन किसानों के समर्थन में आया है जिसमें रिया किन्नर ने मोर्चा संभालते हुए जिला कलेक्ट्रेट में धरना प्रदर्शन किया जिसमें रिया केंद्र ने कहा कि किसानों के साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा वह काऊ सेंचुरी का विरोध नहीं करते उनका कहना है कि किसानों की जमीन छोड़कर काऊ सेंचुरी बनाई जाए क्योंकि गरीब किसान हैं और इनकी जीविका का एकमात्र साधन यह जमीन है अगर यह जमीन इन गरीब किसानों के पास से चली जाएगी तो इनके लिए दो वक्त की रोटी के भी लाले पड़ जाएंगे जिस वजह से वह इन किसानों के दुख दर्द के साथ उनके साथ खड़ी है और उन्हीं के हकों की लड़ाई के लिए तैयार रहेगी उन्होंने कहा यह जीवन किसानों के नाम है जो अन पैदा करते हैं और पूरे देश का पेट भरते हैं

रिया किन्नर ने कहा कि गौशाला का नाम बाबा हरिदास के नाम से रखा जाए। और यह राष्ट्रीय महिला एकता संगठन को लिखकर दिया जाना चाहिए कि जिन किसानों की जमीन है चकबंदी मैं मिली है उसे दोबारा ना लिया जाए सरकार बंजर जमीन पर गौशाला का निर्माण करें। जमीन की पैमाइश अधिकारियों द्वारा की जानी चाहिए किसानों की जमीन किसानों को मिलनी चाहिए और बंजर जमीन अलग होनी चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *