कैराना निवासी मुस्लिम महिला बनी हिंदू गुलफ्शां से बनी पूजा,  पूजा के पूर्वज डेढ़ सौ वर्ष पहले थे हिंदू

कैराना निवासी मुस्लिम महिला बनी हिंदू गुलफ्शां से बनी पूजा

पूजा के पूर्वज डेढ़ सौ वर्ष पहले थे हिंदू

जनपद मुजफ्फरनगर में बघरा स्थित योग साधना यशवीर आश्रम में पहुंची जनपद शामली के कैराना निवासी मुस्लिम महिला ग़ुलाफ़सा ने शुक्रवार को हवन पूजन विधि विधान के साथ हिंदू धर्म में वापसी की है जिसमें योग साधना यशवीर आश्रम के महंत स्वामी यशवीर सरस्वती महाराज और ब्रह्मचारी मृगेंद्र महाराज ने हवन पूजन किया और साथ ही गुलफशा को गंगाजल का आचमन करा गया जनेऊ पहना कर और श्रीराम का पटका पहनाया गया और उसकी हिंदू धर्म में वापसी करा कर उसका नाम गुलफशा से पूजा नाम दिया गया योग साधना यशवीर आश्रम के महंत ब्रह्मचारी स्वामी यशवीर सरस्वती महाराज ने बताया कि जनपद शामली के कस्बा कैराना निवासी एक युवती बघरा स्थित उनके आश्रम में आई और उसने हिंदू धर्म अपनाने की अपील की जिसके बाद हवन पूजन कर गंगाजल का आचमन कराकर उसे जनेऊ धारण कर आ गया और फिर श्रीराम का फटका पहनाकर ब्रह्मचारी स्वामी श्रद्धानंद के बलिदान दिवस के अवसर पर उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि देते हुए एक मुस्लिम महिला को हिंदू धर्म में वापसी कराई स्वामी यशवीर महाराज ने बताया कि लगभग 150 वर्ष पूर्व युवती के पूर्वज किन्ही कारणों से हिंदू धर्म छोड़ मुस्लिम धर्म अपना गए थे और आज इस युवती ने विधि-विधान और हवन पूजन के साथ हिंदू धर्म में वापसी की है गौरतलब है कि शामली का कस्बा कैराना मुस्लिम बाहुल्य होने के साथ-साथ काफी बदनाम कस्बा भी रहा है क्योंकि यहां से हिंदुओं के पलायन का भी मामला जोरों शोरों से उठा था स्वामी यशवीर महाराज लगभग 550 से भी ज्यादा ऐसे मुस्लिम लोगों को हिंदू धर्म में वापसी कर आ चुके हैं जिनके पूर्वज पहले हिंदू थे और बाद में मुसलमान बन गए थे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *