भारत विकास परिषद मुजफ्फरनगर, सम्राट शाखा ने 6 टीबी मरीजों को लिया गोद और डीटीओ ने टीबी से ठीक होने के लिए दिये टिप्स

भारत विकास परिषद मुजफ्फरनगर, सम्राट शाखा ने 6 टीबी मरीजों को लिया गोद और डीटीओ ने टीबी से ठीक होने के लिए दिये टिप्स

गुरुवार को भारत विकास परिषद मुजफ्फरनगर, सम्राट शाखा ने को क्षय रोग से पीड़ित 6 बच्चों को राशन प्रदान किया । कार्यक्रम में मुख्य अतिथि जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. लोकेश चंद्र गुप्ता एवं भारत विकास परिषण के परम कीर्ति शरण अग्रवाल रहे।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि एवं जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. लोकेश चंद्र गुप्ता ने कहा जिस प्रकार से-सम्राट शाखा ने टीबी से ग्रसित छह बच्चों को गोद लिया और उन्हें पौष्टिक आहार प्रदान किया है, इस प्रकार के सामाजिक लोग इस मुहिम से जुड़ेंगे तभी प्रधानमंत्री का 2025 तक टीबी मुक्त भारत का सपना साकार होगा। आप सबके इस प्रयास से एक दिन जनपद टीबी मुक्त हो जाएगा। इस दौरान जिला क्षय रोग अधिकारी ने एक महीने का राशन प्रदान कर बच्चों को नियमित दवा लेने और पौष्टिक भोजन का सेवन करने का आह्वान किया। इस बीच जिला क्षय रोग अधिकारी ने रोगियों को टीबी से ठीक होने के लिए जरूरी बातें बताईं। उन्होंने कहा टीबी की दवा नाश्ते के बाद ही लें। गर्म तासीर वाली चीजें जैसे चाय, कॉफी, खट्टी एवं मिर्च मसाले वाली चीजें खाने से बचें। रोज सुबह हल्का हल्का व्यायाम करें, खाने में फाइबर वाली चीजें जैसे हरी सब्जियां, मौसमी फल, दालें, सोयाबीन ज्यादा से ज्यादा लें। खाने के तुरन्त बाद लेटें नहीं बल्कि थोड़ा टहलें। ध्यान रहे कि किसी भी स्थिति में टीबी की दवा बंद नहीं करनी है।
जिला कार्यक्रम समन्वयक सहबान उल हक ने बताया – क्षय रोग से संबंधित सभी जांच व इलाज जिला अस्पताल में उपलब्ध है। सही समय पर सही इलाज करवाने से टीबी को जड़ से खत्म किया जा सकता है। किसी भी मरीज को हताश नहीं होना है जिला क्षय रोग विभाग उनके साथ है।
जिला पीपीएम समन्वयक प्रवीण कुमार ने कहा – टीबी किसी को भी हो सकती है। हम टीबी रोगियों के प्रति भेदभाव न करें। बल्कि उन्हें सहयोग कर जागरूक करें। सब मिलकर टीबी रोग की कुप्रथाओं को दूर करने में जागरूकता लायें और जनपद को टीबी मुक्त करने का संकल्प लेकर कार्य करें। कार्यक्रम को सफल बनाने में कोषाध्यक्ष प्रवीण सिंघल, शाखा महिला संयोजकक सुमन अग्रवाल, एडवोकेट अजय अग्रवाल, पी. के. गुप्ता, एडवोकेट प्रेम प्रकाश, मनोज गुप्ता, अशोक सिंघल, सुदेश गर्ग का विशेष सहयोग रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *