भाकियू युवा जिलाध्यक्ष कपिल सोम को जेल भेजने पर फूटा भाकियू का गुस्सा

भाकियू युवा जिलाध्यक्ष कपिल सोम को जेल भेजने पर फूटा भाकियू का गुस्सा

पूरा दिन कलेक्ट्रेट गेट पर रहा धरना प्रदर्शन

पुलिस द्वारा 2 दिन में जांच कर उचित कार्यवाही करने के आश्वासन पर धरना हुआ समाप्त

उत्तर प्रदेश के जनपद मुजफ्फरनगर में जिला कलेक्ट्रेट पर उस समय भारतीय किसान यूनियन कार्यकर्ताओं और पुलिस प्रशासन के बीच तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई जब महावीर चौक स्थित भारतीय किसान यूनियन कार्यालय से किसानों का एक जत्था जिला कलेक्ट्रेट स्थित एसएसपी कार्यालय पर धरना देने के लिए जा रहा था जैसे ही किसान यूनियन के यह कार्यकर्ता और पदाधिकारी प्रकाश चौक स्थित कलेक्ट्रेट के गेट पर पहुंचे तो पहले से ही बेरी कटिंग लगाए पुलिसकर्मियों ने उन्हें रोक दिया जिसके बाद भारतीय किसान यूनियन कार्यकर्ता और पुलिसकर्मियों के बीच जमकर धक्का-मुक्की और खींचतान हुई घंटो चले इस हंगामे के बाद किसान बेरीक़ेटिंग हटाकर जिला कलेक्ट्रेट के मुख्य गेट पर पहुंच गए मगर वहां भी भारी पुलिस बल तैनात था और जबरदस्त बैरिकेडिंग के चलते किसानों को अंबेडकर चौक पर बैठ गए क्योंकि खतौली में हो रहे उपचुनाव के लिए नामांकन प्रक्रिया के चलते जिला कलेक्ट्रेट में पहले से ही भारी पुलिस बल तैनात था जिस वजह से किसान यूनियन कार्यकर्ता गेट को खोलकर एसएसपी कार्यालय तक नहीं पहुंच सके इस बीच महावीर चौक से लेकर प्रकाश चौक और फिर प्रकाश चौक से झांसी की रानी और शिव चौक तक किसानों के ट्रैक्टर और गाड़ियां आ जाने के कारण पूरा शहर जाम हो गया कई घंटों के हंगामे प्रदर्शन के बाद भारतीय किसान यूनियन के प्रतिनिधिमंडल और पुलिस प्रशासन के अधिकारियों के साथ वार्तालाप हुई और वार्तालाप में संघर्ष के एक मामले में जेल भेजे गए भारतीय किसान यूनियन के युवा जिला अध्यक्ष कपिल सोम के मामले में पुलिस प्रशासन 2 दिन में जांच कर उचित कार्यवाही करने के आश्वासन पर भारतीय किसान यूनियन का धरना समाप्त हुआ

गौरतलब है कि थाना रतनपुरी क्षेत्र के गांव रतनपुरी में जमीनी विवाद को लेकर हुए पारिवारिक संघर्ष के चलते एक परिवार पर जानलेवा हमला करने के आरोप में भारतीय किसान यूनियन के युवा जिला अध्यक्ष कपिल सोम सहित उसके कई भाइयों के खिलाफ पुलिस ने गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया था जिसके बाद कई दिनों तक हुई वार्तालाप के बाद भी कोई समाधान नहीं निकला था जिसमें 4 दिन पहले भारतीय किसान यूनियन कार्यकर्ताओं ने थाना रतनपुरी में भी धरना प्रदर्शन किया था और देर शाम तक चला धरना बिना किसी नतीजे के समाप्त करना पड़ा था इसके बाद चौधरी राकेश टिकैत ने 14 नवंबर का जिला कलेक्ट्रेट स्थित एसएसपी कार्यालय पर धरना प्रदर्शन का ऐलान किया था उसी ऐलान के चलते भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ता पुलिस के खिलाफ धरना प्रदर्शन करने के लिए जैसे ही एसएसपी कार्यालय जा रहे थे तो रास्ते में पुलिस से झड़प हो गई शांतिपूर्वक ढंग से जा रहे भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने बलपूर्वक रोका तो पूरे जनपद में यह खबर आग की तरह फैल गई जिसके बाद किसान जहां भी था जैसा भी था वह मुजफ्फरनगर कलेक्ट्रेट की ओर दौड़ पड़ा और देखते ही देखते महावीर चौक से लेकर प्रकाश चौक और झांसी की रानी व शिव चौक तक भारी संख्या में किसानों के ट्रैक्टर और गाड़ियां आकर खड़े हो गए जिससे जाम लग गया देर शाम तक चली वार्तालाप के बाद एसपी सिटी अर्पित विजयवर्गीय ने किसानों के बीच पहुंचकर आश्वासन दिया कि 2 दिन में पूरे मामले की बारीकी से जांच करने के उपरांत जो भी उचित कार्यवाही होगी वह की जाएगी इसी आश्वासन के बाद भारतीय किसान यूनियन का धरना प्रदर्शन समाप्त हुआ

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *